पर्यटन

यह कुमाऊं की पहाड़ियों का प्रवेशद्वार है और साथ ही लखनऊ–दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग के मध्य में पड़ता है। यहां रोहिलखंड विश्वविद्यालय परिसर में स्थित पांचाल संग्रहालय एवं बरेली कैंटोमेंट स्थित सेना के संग्रहालय में कलाकृतियों और पांडुलिपियों का अद्भुत संग्रह है।

यह शहर मंदिरों का शहर है और उनमें से कुछ खास हैं : हरि मंदिर, इस्कॉन मंदिर, श्री दाऊजी का मंदिर, श्री बांके बिहारी मंदिर, लक्ष्मी नारायण मंदिर और पशुपति नाथ मंदिर।

यहां कुछ खास दरगाह हैं- दरगाह आला हज़रत इमाम अहमद रज़ा खान, दरगाह हज़रत शाह शराफत मियां, बीबी की मस्जिद और जामा मस्जिद।

साथ ही यहां कई गुरुद्वारे भी हैं, जिनमें महत्वपूर्ण हैं: बड़ा गुरुद्वारा और गुरुद्वारा गुरु तेगबहादुर साहिब।

इस व्यस्त शहर में कई पार्क और शॉपिंग मॉल भी स्थित हैं। यह शहर अपनी हरियाली, आर्मी कैंटोमेंट, एवं रोहिलखंड विश्वविद्यालय, भारतीय पशुचिकित्सा अनुसंधान संस्थान एवं केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान(सीएआरआई) जैसे कई शैक्षिक और शोध संस्थानों के लिए भी जाना जाता है। अधिक जानकारी के लिए …..  क्लिक करे